Headlines

सात समुंदर पार से आया बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद, डोनेट किया 2 लाख 20 हज़ार

सात समुंदर पार से आया बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद, डोनेट किया 2 लाख 20 हज़ार
रियाद (सऊदी)
एजेंसी
अगर नेक काम करने का जज़्बा इंसान के अंदर हो तो मुल्क की सरहदें भी बाधा नही बनती ऐसा ही कारनामा इनदिनों मुल्क से सात समुंदर पार रह रहे प्रवासी भारतीयों ने कर दिखाया है । बिहार में आए भयावह बाढ़ के मंजर को देखकर ही दिल दहल जाता है ।लाखो लोग बेघर हो गए , और हज़ारो लोग काल के गाल में समा गए , इन तमाम हालात को देख कर सऊदी अरब की राजधानी रियाद में रह रहे भारतीयों ने बाढ़ पीड़ितों की मदद की ठानी और एक सभा का आयोजन कर डोनेशन जनरेट किया।
सभा को सम्बोधित करते हुए आफ़ताब आलम ने बताया कि  हम यहाँ A/C रूम में रह रहे हैं।और अच्छा खाना खा रहे है लेकिन जरा उनके बारे में सोचिये जो भूख से बेहाल हैं । जिनका सब कुछ लूट गया है।इंसानियत का तकाजा ये कहता है कि ऐसे समय मे हम साथ खड़े हो वही अब्दुल अलीम साहब ने अपनी बात संक्षेप में कुछ इस प्रकार शेर के माध्यम से कहा कि
ख़ंजर लगे किसी को तड़पते है हम अमीर
सारे जहाँ का दर्द हमारे जिगर में है ।
सभा को बिहार के नवयुवक  तफसीरू जमा ने सम्बोधित करते हुए कहा के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हम सबको आगे आना चाहिए , यही मानवता है । टीम के सक्रिय मेम्बर राशिद ने बताया के प्राकृतिक आपदा को हम रोक नही सकते लेकिन इस घड़ी में पीड़ितों के लिए जरूर कुछ कर सकते है।
सभा का संचालन शेरघाटी के शौक़त अली कर रहे थे , उन्होंने अपने सम्बोधन में बताया के  हमे अपने सभी राजनैतिक और सामाजिक भेदभाव को भूलकर इंसानियत की बका के लिए आगे आने का समय है। हम सबको बढ़ चढ़ कर बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री और सहायता राशि भेजने की जरूरत है ।
केयरिंग फ्रेंड्स के बैनर तले सभा का आयोजन किया गया जिसमें 2 लाख 20 हज़ार का डोनेशन जनरेट किया गया । और बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों के लिए यह राशि भेज दी गई।
डोनेशन जनरेट करने वालो में मुख्य रूप से राशिदुल हक , अरशद इमाम , कामिल अहमद , तफसीरू जमा , सऊद आलम , अताउल्लाह , सरफ़राज़ आलम , तालिब , अनवर , जुबैर अहमद , अब्दुल अलीम , आफ़ताब आलम , असफाक अहमद , सलीम खान , शरीफ खान आदि सैकड़ो लोग सक्रिय रहे।