Headlines

GAYA के Khizarsarai में अधिकारियों के हस्तक्षेप से भूमि विवाद का हुआ निपटारा

GAYA के Khizarsarai में अधिकारियों के हस्तक्षेप से भूमि विवाद का हुआ निपटारा
GAYA-Khizarsarai (Md. Nezamuddin / Star News Today) : गया ज़िले के ख़िज़रसराय थाना के सरबहदा ओपी क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम पंचायत बिहटा के सतामस गांव में दो पक्षों के बीच चल रहा ज़मीन विवाद शांतिपूर्वक सुलझा लिया गया। इस विवाद का निपटारा अधिकारियों के हस्तक्षेप व सूझबूझ की वजह कर सफ़लतापूर्वक हो गया। कहा जा रहा है कि यह ज़मीन विवाद एक बार फिर ख़ूनी संघर्ष में तब्दील हो सकता था।
ग़ौरतलब है कि सतामस निवासी महेन्द्र यादव अपनी ज़मीन पर मकान बनवा रहे थे। इस ज़मीन पर उनके पड़ोसी विजय यादव से विवाद चल रहा था। विजय यादव उस ज़मीन से रास्ते की मांग कर रहे थे। लेकिन महेंद्र यादव इस मामले में किसी भी क़ीमत पर तैयार नहीं थे। जहां एक ओर विजय यादव अंचल कार्यालय में ज़मीन की नापी करवाने के लिए एनआर कटवा रहे थे। तो दूसरी तरफ़ महेंद्र यादव ने मकान बनवाना शुरू कर दिया। ऐसी हालत में तनाव अपने चरम सीमा पर था।
यह विवाद एक गंभीर रूप ले सकता था। इस परिस्थिति में ओपी प्रभारी से लेकर अनुमण्डल पदाधिकारी तक परेशान थे। इसलिए इस समस्या के समाधान के लिए सरबहदा ओपी के प्रांगण में दोनों पक्षों के बीच सुलह कराने के लिए मीटिंग कराई गई। इस मीटिंग की अध्यक्षता एसडीओ नीमचक बथानी राधाकान्त ने की। यह मीटिंग लगातार चार घंटे तक चली। इस मीटिंग में भूमि उप-समहर्ता सलीम अख़्तर और एसडीपीओ विजय कुमार के समक्ष दोनों पक्षों के बीच चार फ़िट रास्ता छोड़ने पर सहमति बनी।
सतामस, सरबहदा, खगड़ी के  ग्रामीणों ने दोनों पक्षों को मनाने में  काफ़ी सहयोग किया। मौक़े पर  मजिस्ट्रेेट कमालउद्दीन, मोहड़ा अंचल अधिकारी, ओपी प्रभारी कृष्ण कुमार – 01, राम मनोहर सिंह जमादार के साथ-साथ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ता रामबली यादव, समाजिक कार्यकर्ता विनय कुमार यादव, सुधीर कुमार, लाल बाबू, सिन्टु कुमार, योगेन्द्र यादव आदि के साथ सैंकड़ों लोग उपस्थित थे।