Headlines

किशनगंज में आर एस एस का प्रशिक्षण शिविर , बिहार में मुख्य मुक़ाबला राजद और भाजपा के बीच

किशनगंज में आर एस एस का प्रशिक्षण शिविर , बिहार में मुख्य मुक़ाबला राजद और भाजपा के बीच

अशरफ अस्थानवी

हाल में संपन्न हुए गुजरात विधान सभा में कांग्र्रेस से नजदीकी मुकाबले के बाद बिहार को लेकर भाजपा का शीर्ष नेतृत्व अति संवेदनशील है। यहां उसका मुख्य मुकाबला राष्ट्रीय जनता दल से हैए जिसके पास परंपरागत वोट बैंक है। नितीश की पार्टी जदयू के पास वोट बैंक की कमी है हालाँकि बिहार को विकास की ओर अग्रसर कराने में नितीश कुमार के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता लेकिन वोट बैंक के जातीय समीकरण को देखते हुए 2019 के लोक सभा चुनाव में मुख्य मुकाबला सेकुलर बनाम कोम्मुनल फोर्सेस के बीच होना है इसे भापते हुए भाजपा का शीर्ष नेतृत्व आर एस एस पर आस लगाए बैठा है और आर एस एस ने अपनी तयारी शुरू भी कर दी है आज मुस्लिम बहुल्य किशन गंज जिला मुख्यालय में आर एस एस का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया।
मिशन.2019 की तैयारियों में जुटी भाजपा बिहार में अनोखी पहल करने जा रही है। संगठन एवं नेताओं को आरएसएस की तर्ज पर शिक्षण.प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सत्ता में दमखम के साथ भागीदारी के लिए संगठन को जमीनी स्तर पर तराशने एवं गुटबाजी खत्म करने के मकसद से किशनगंज में गुरुवार से दो दिनों तक पार्टी के शीर्ष नेता रीतियों.नीतियों एवं रणनीतियों का पाठ पढ़ाएंगे। पाठशाला में प्रदेश भर से विस्तारकों को बुलाया गया है।पार्टी ने जिलों के प्रभारियों और प्रदेश पदाधिकारियों को भी बैठक में तलब किया है। भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश कार्यशाला के चार सत्रों में विस्तारकों को संगठन गढऩे का पाठ पढ़ाएंगेए जबकि प्रदेश संगठन महामंत्री नागेंद्र नाथ और सह संगठन महामंत्री शिवनारायण महतो संगठन की भावी रणनीति और लक्ष्य से अवगत कराएंगे।
पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा को इसकी बानगी भी मिल चुकी है। यही कारण है कि भाजपा का शीर्ष नेतृत्व लोकसभा चुनाव के पहले जमीनी स्तर पर अपनी जड़ें जमाने के पक्ष में है।इसके लिए भाजपा के पास आरएसएस से बेहतर और कोई फार्मूला नहीं है। यही कारण है कि संघ की तर्ज पर बिहार में पहली बार पूर्णकालिक विस्तारक और अंश कालिक विस्तारक प्रचारक लगाए गए हैं। विस्तारकों को जनमानस का फीडबैक लेने के साथ ही पॉलिटिकल फीडबैक और कैडर की मजबूती का काम दिया है। जिस तरह आरएसएस पूर्णकालिक प्रचारक अपना घरबार त्याग कर पूरी तरह संगठन की सेवा में जुटते हैंए ठीक इसी तरह के मॉडल को भाजपा लागू करने में जुटी है।मिशन.2019 की तैयारी में जुटी भाजपा ने जिलाध्यक्षों से केंद्रीय नेतृत्व के निर्देशों से अवगत कराते हुए विस्तारकों की जिलाए मंडलए पंचायतए बूथ और गांवों के भ्रमण संबंधित कामकाज की जानकारी मांगी है। इसी आधार पर कार्यशाला में विस्तारकों का रिपोर्ट कार्ड भी जारी किया जाएगा। पार्टी ने जिलाध्यक्षों को पूछा था कि ग्रामीण जनसंपर्क के दौरान विस्तारकों ने कितने परिवारों से मुलाकात कीए बूथ स्तर पर कितनी बैठकें हुईं और ग्रामीण चौपाल कितने लगाए गए।
आर एस एस पुरे दम ख़म के साथ बिहार में भाजपा की शानदार जीत की तैयारी में लगा है और हिंदुत्व के एजेंडे को बढाने में प्रयासरत है इस का आग़ाज़ किशनगंज से हो चूका है ये शिविर बिहार के तमाम जिलों में लगाये जाएँगे तथा हिन्दू जागरण अभियान का भी कार्य किया जाएगा।