Headlines

अंतत: नीतीश ने तोड़ी अपनी चुप्पी,  मुजफ्फरपुर में हुआ है महापाप, मैं शर्मसार हूं और आत्मग्लानि महसूस कर रहा हूं

अंतत: नीतीश ने तोड़ी अपनी चुप्पी,  मुजफ्फरपुर में हुआ है महापाप, मैं शर्मसार हूं और आत्मग्लानि महसूस कर रहा हूं
अशरफ अस्थानवी
विगत माह मुजफ्फरपुर में कमसिन बच्चियों के साथ हुई शर्मसार करने वाली ह्दय विदारक घटना पर लंबे समय के बाद अपनी चुप्पी तोडते हुए राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे महापाप की संज्ञा दी है और कहा है कि वे इस घटना से काफी दुखी हैं। विपक्षी पार्टियों द्वारा इस घटना पर जबरदस्त बवाल मचाए जाने और महिला संगठनों तथा अन्य मानवाधिकार संस्थाओं के द्वारा जबरदस्त धरना प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री का यह वक्तव्य आया है।
 मुख्यमंत्री ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा है कि जो भी व्यक्ति इस कांड में शामिल है, उसने पाप किया है और ऐसे पापियों को कतई बख्शा नहीं जाएगा। राज्य सरकार मुजफ्फरपुर कांड की सीबीआई जांच की निगरानी करने का हाईकोर्ट से भी अनुरोध करेगी। हम मुजफ्फरपुर कांड पर शर्मसार हैं, और आत्मग्लानि महसूस कर रहे  है। उन्होंने कहा कि जब तक मैं हूं, बिहार में समाज सुधार का कार्यक्रम और कानून का राज कायम रहेगा। समाज में कुछ तत्व ऐसे होते हैं जो हमेशा गड़बड़ी में लगे रहते हैं। पावर मिलते कोई धन बनाने लगता है तो कोई घृणित कर्मों में लग जाता है। मुजफ्फरपुर कांड पर हम शर्मसार हैं। आत्मग्लानि महसूस कर रहे हैं। समझ नहीं आ रहा है समाज में कैसे-कैसे लोग हैं? जिसने भी यह पाप किया है, वह चाहे कोई भी हो, उसे हर तरह से सजा मिलेगी। हमने सीबीआई जांच की मॉनिटरिंग हाईकोर्ट से कराने का फैसला इसीलिए किया है ताकि दोषी बच नहीं सके।
 
विदित हो कि समाज कल्याण विभाग द्वारा चलाए जा रहे गर्ल्स चाईल्ड होम सेंटर मुजफ्फरपुर में 35 नाबालिग बच्चियों के साथ दुष्कर्म और यौन शोषण की घटना ने बिहार की सियासत में भुंचाल ला दिया है और राज्य सरकार के अपराध के विरूद्ध जीरो ट्रॉलरेंस नीति के खुलम खुला मजाक उड़ाने के बराबर है।
बहरहाल देर से ही सही मुख्यमंत्री ने इस घृणित कार्य पर अफसोस तो जताया। उम्मीद है कि इसके दोषियों के विरूद्ध सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी, ताकि भविष्य में पुन: इस तरह के घटना की पुर्णवृति ना हो और बिहार में मां बहनें सुरक्षित वातावरण में रह सकें।