Headlines

वाराणसीवृद्ध का सहारा बनने वाले वाराणसी ट्रैफिक के दो सिपाहियों को SSP ने किया सम्मानित। वाराणसी

वाराणसीवृद्ध का सहारा बनने वाले वाराणसी ट्रैफिक के दो सिपाहियों को SSP ने किया सम्मानित। वाराणसी

वाराणसीवृद्ध का सहारा बनने वाले वाराणसी ट्रैफिक के दो सिपाहियों को SSP ने किया सम्मानित। वाराणसीपुलिस हमेशा जनता की सेवा है यह टैग लाइन पूरे जनपद में जगह जगह लिखी हुई है। यह वाक्य सत्य भी है जिसका जीता जागता उदहारण गुरुवार को उस समय देखने को मिला जब एक वृद्ध को सुबह रथयात्रा चौराहे पर धक्का मारकर भाग रहे क्रूज़र वाहन को पकड़ते हुए तुरंत ट्रैफिक पुलिस ने वृद्ध को प्राथमिक उपचार भी दिया। इस बात की प्रशंसा पुलिस महकमे से लेकर आम जनता में भी हो रही है। वहीं गुड़ पुलिसिंग की मिसाल पेश करने वाले ट्रैफिक विभाग के इन दोनों सिपाहियों को एसएसपी वाराणसी ने 500 -500 के नगद पुरूस्कार से सम्मानित कर शाबाशी दी है।

*घायल बुजुर्ग का इलाज कराया सिपाही ने*

रथयात्रा चौराहे पर सुबह एक वृद्ध को तेज़ रफ़्तार क्रूज़र गाडी संख्या UP 64 AT 0635 ने टक्कर मार दी। टक्कर से घायल होकर वृद्ध नीचे गिर गए। इस दौरान ट्रैफिक सिपाही राम नयन और नितीश ने तुरंत वृद्ध को उठाकर सड़क के किनारे किया और क्रूज़र गाडी को पकड़ लिया। इसके बाद वृद्ध को सड़क किनारे पेड़ की छांव में लेटाने के बाद उनका प्राथमिक उपचार भी किया।

*सूचनाएँ वायरल होने के वाद एसएसपी ने लिया निणॅय*

यह फोटो और सूचना वाराणसी पुलिस के ट्विट्टर से ट्वीट की गयी जिसके बाद पूरे पुलिस महकमे में उनकी चर्चा हो रही है। देर शाम रथयात्रा चौराहे पर घायल वृद्ध के तुरन्त उपचार करने के सेवाभाव और कार्य के प्रति समर्पण के लिए एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने शाबाशी दी है और दोनों कांस्टेबल को 500-500 रुपये का नगद पुरस्कार भी घोषित किया।

*सिपाहियो ने किया काशी के अफसरो को गौरवान्वित*

इस सम्बन्ध में एसपी ट्रैफिक सुरेश चंद्र रावत ने बताया कि पुलिस हमेशा जनता की सेवा में तत्पर हैं। ट्रैफिक पुलिस के दोनों सिपाहियों पर हमें गर्व हैं उन्होंने अपनी ड्यूटी को पूरी तन्मयता से निभाया है। हमारा काम सिर्फ गाड़ियों को सीज़ या चालान करने मात्र तक ही सीमित नहीं है। उन्होंने दोनों ही सिपाहियों की प्रशंसा करते हुए अन्य को भी इनसे सीख लेने की बात कही।