Headlines

761समूहों के बीच  23 करोड़ 87 लाख की राशि का वितरण :वित्तीय समावेशन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

761समूहों के बीच  23 करोड़ 87 लाख की राशि का वितरण :वित्तीय समावेशन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

समस्तीपुर (मोहम्मद जमशेद) समस्तीपुर जिले के पटोरी में बिहार ग्रामीण बैंक के सहयोग से जीविका द्वारा संपोषित स्वयं सहायता समूहों का वित्तीय पोषण कार्यक्रम बढ़ते कदम गुरुवार को मारवाड़ी विवाह भवन में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत दीप प्रज्वलित कर समारोह के मुख्य अतिथि बिहार ग्रामीण बैंक के अध्यक्ष प्रेमशंकर झा, जीविका के राज्य परियोजना प्रबंधक सूक्ष्म वित्त मनीष कुमार, जिला परियोजना प्रबंधक गणेश पासवान  क्षेत्रीय प्रबंधक टीके चटर्जी आदि ने सयुंक्त रूप से किया। इस अवसर पर बिहार ग्रामीण बैंक के सहयोग से जीविका से संपोषित 761 स्वयं सहायता समूह के बीच की 23 करोड़ 87 लाख राशि का वितरण किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार ग्रामीण बैंक के अध्यक्ष प्रेमशंकर झा ने  जीविका के दीदियों की तारीफ करते हुए कहा कि जीविका की दीदियां बैंकों की सबसे विश्वसनीय ग्राहक हैं। आज जीविका दीदियां अपने बलबूते बदलाव का इतिहास रच रहीं हैं। श्री झा ने जीविका के अधिकारियों एवं जीविका दीदियों को आश्वस्त किया कि बैंक हर कदम पर आपके साथ है और बिहार के बदलाव में बिहार ग्रामीण बैंक हर समय आपके साथ है। उन्होंने कहा कि जीविका के कारण बिहार की महिलाएं काफी सशक्त  हुई हैं। समारोह में उपस्थित जीविका के राज्य परियोजना प्रबंधक सूक्ष्म वित्त मनीष कुमार ने जीविका की गतिविधियों की चर्चा करते हुए कहा कि आज जीविका 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का परिवार बन चुका है जो गर्व का विषय है। श्री कुमार ने कहा कि रोजगार के अवसर की बात हो या सामाजिक कुरीतियों से लड़ने की बात जीविका की दीदियां हमेशा से आगे बढ़कर लक्ष्य को हासिल किया है।

उन्होंने महिला सशक्तिकरण की दिशा में जीविका दीदियों के योगदान को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि जीविका दीदियां परिवर्त्तन का हर दिन नया इतिहास बना रही हैं। जिला परियोजना प्रबंधक गणेश पासवान ने अपने संबोधन में समस्तीपुर में जीविका की गतिविधियों को रेखांकित करते हुए कहा कि कई प्रखंड संतृप्त की स्थिति तक पहुंच चुका है और वहां अब जीविका दीदियों को आजीविका की गतिविधियों से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने जीविका दीदियों से अनुरोध किया कि  बैंकों से प्राप्त राशि का उपयोग आजीविका संबंधित कार्यों में करें ताकि इसका बेहतर उपयोग हो पाए तथा बैंकों को ससमय इस राशि को लौटाया जा सके। क्षेत्रीय प्रबंधक बिहार ग्रामीण बैंक टी. के चटर्जी व राजेश भारती ने अपने संबोधन में जीविका दीदियों के गतिविधियों की प्रशंसा की। समारोह में स्वागत भाषण प्रस्तुत करते हुए सामुदायिक वित्त प्रबंधक कुणाल कुमार ने समस्तीपुर में जीविका की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए वित्तीय समावेशन के विभिन्न चरणों एवं उपलब्धियों पर विस्तार से प्रकाश डाला। मंच संचालन प्रबंधक अनुश्रवण एवं मूल्यांकन मनोज कुमार मधुकर ने तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रखंड परियोजना प्रबंधक पटोरी अजय कुमार ने किया। इस अवसर पर बिहार ग्रामीण बैंक के विभिन्न शाखा प्रबंधक सुनील कुमार सिंह, सुमन कुमार, राहुल कुमार, प्रीति सरोज के साथ जीविका के मानव संसाधन प्रबंधक विजय कुमार साहनी,  प्रोक्योरमेंट मैनेजर संगीता कुमारी, मैनेजर लाइवलीहुड आशीष कुमार, स्वास्थ्य एवं पोषण प्रबंधक छठु दास, मैनेजर जॉब्स अभिषेक आनंद, यंग प्रोफेशनल उदयभान सिंह, प्रशिक्षण पदाधिकारी शम्भू कुमार, क्षेत्रीय समन्वयक आसिफ इकबाल, सामुदायिक समन्वयक शालिनी प्रिया, सुनीता कुमारी, तनु सिन्हा, कुमारी शोभा लता, नूतन नयन, कुमारी माला सहित सैकड़ों की संख्या में जीविका के कैडर एवं जीविका की दीदियां उपस्थित थीं। कार्यक्रम में उल्लेखनीय कार्य करने वाले शाखा प्रबंधकों एवं जीविकार्मियों को अतिथियों द्वारा सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम से पूर्व अतिथियों का स्वागत स्वागत गान एवं पुष्प गुच्छ देकर जीविका की दीदियों ने किया।